Varanasi: क्‍या आपने खाया है वाराणसी का मशहूर बाटी-चोखा? रेस्‍टोरेंट का देसी अंदाज जीत लेगा दिल

0
20


रिपोर्ट: अभिषेक जायसवाल

वाराणसी. भोले की नगरी काशी दुनियाभर में अपने जायके के लिए मशहूर है. बाबा विश्वनाथ के इस शहर में पूड़ी कचौड़ी, पान और लस्सी के अलावा बाटी चोखा (Bati Chokha) का स्वाद भी लाजवाब है. शहर के मध्य एक ऐसा रेस्टोरेंट है जहां गांव के खुशनुमा माहौल के बीच आपको स्वादिष्ट बाटी चोखा के स्वाद मिलेगा. आइए जानें रेस्‍टोरेंट की खासियत.

बनारस के तेलियाबाग में बाटी चोखा रेस्टोरेंट है. इस रेस्टोरेंट की खास बात है कि इसमें एंट्री के साथ ही आपको ऐसा अहसास होगा कि आप शहर में नहीं बल्कि गांव के खुशनुमा माहौल में आ गए हैं. हर तरफ माटी की दीवार और लालटेन की रोशनी के बीच इस रेस्टोरेंट में लोग बाटी चोखा और दाल चावल का स्वाद चखते हैं. जबकि शनिवार और रविवार को यहां लोगों की खासा भीड़ होती है.

खास है परोसने का अंदाज
रेस्टोरेंट के संचालन अशोक दुबे ने बताया कि गांव के खुशनुमा माहौल के बीच बाटी चोखा का स्वाद भी पूरे देसी अंदाज में मिलता है. ग्राहकों को पत्तल, कुल्हड़ और कसोरे में इसे परोसा जाता है. खास बात ये भी है कि यहां बैठने के लिए हाई फाई चेयर या भी कुर्सियां नहीं बल्कि चटाई पर ही आपको बैठना पड़ता है.

गोबर के कंडे पर होता है तैयार
अशोक दुबे ने बताया कि हम लोग अपने यहां सब कुछ देसी अंदाज में तैयार करते हैं. बाटी चोखा की प्लेट में मिलने वाली चटनी तक यहां मिक्सर में नहीं बल्कि सील बट्टे पर पीसी जाती है. इसके अलावा बाटी, दाल और चोखे को भी गोबर के कंडे पर पकाया जाता है.

थाली में मिलेगा ये
बात यदि थाली की करें तो 325 रुपये की थाली में ग्राहकों को शुद्ध देसी घी की बाटी, चोखा, दाल, चावल, मट्ठा, फारा, पनीर पापड़ और खीर के साथ पानी का बॉटल मिलती है. यह रेस्‍टोरेंट सुबह साढ़े 10 बजे से रात के साढ़े 10 बजे तक खुला रहता है. ज्यादा जानकारी के लिए आप फोन नंबर 05422201010 पर संपर्क कर सकते हैं.

Baati Chokha Restaurant

Tags: Street Food, Varanasi news

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here