Pithoragarh: जल्द अपने वाहन से जा सकेंगे नेपाल, धारचूला में बन रहा उत्तराखंड का दूसरा पुल

0
12


हिमांशु जोशी

पिथौरागढ़. उत्तराखंड का पिथौरागढ़ जिला पड़ोसी देश नेपाल और चीन की सीमा से लगा है. इस कारण यहां के सीमावर्ती इलाकों में भारत और नेपाल की मिश्रित सभ्यता देखने को मिलती है. सीमा पर रहने वाले लोग परस्पर एक-दूसरे देश पर निर्भर हैं, चाहे व्यापार हो या यहां देखे जाने वाले रोटी-बेटी के संबंध में. दोनों देशों के नागरिक यहां बेरोकटोक आ-जा सकते हैं. यह संबंध और मजबूत करने के लिए नेपाल से लगे प्रदेश के धारचूला शहर में छारछूम में काली नदी पर दो लेन वाले मोटर पुल का निर्माण किया जा रहा है. इस पुल के बनने से दोनों देशों के लोग अपने वाहनों से भी आवाजाही कर सकेंगे. साथ ही यहां पर्यटन, व्यवसाय और मित्रता से संबंध और भी मजबूत होंगे.

पिथौरागढ़ के जिलाधिकारी (जिला) डॉ. आशीष चौहान ने जानकारी देते हुए बताया कि लगभग 37 करोड़ रुपये की लागत से यह पुल बनना है. इसके महत्व को देखते हुए कार्यदायी संस्था को समय से इसका कार्य पूरा करने के निर्देश दिए गए हैं. उन्होंने कहा कि यह मोटर पुल इन इलाकों में विकास की नजीर बन सकेगा.

धारचूला में बन रहा मोटर पुल उत्तराखंड में दूसरा ऐसा पुल होगा जहां से अपने वाहनों से भी लोग नेपाल आ-जा सकेंगे. अभी तक यह सेवा सिर्फ बनबसा में है. अब वाहन से नेपाल जाने वालों को धारचूला के रास्ते दूसरा विकल्प मिलने जा रहा है. इसका शिलान्यास करते हुए मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि काली नदी के किनारे उनका बचपन बीता है, आज उसी पुल पर उन्हें मोटर पुल का निर्माण करने का सौभाग्य मिला है. मोटर पुल बनने से यहां के इलाकों में पर्यटन की संभावनाएं बढ़ेंगी और यहां के सीमावर्ती गांव भी विकास की मुख्य धारा से जुड़ पाएंगे. यह पुल बनने को लेकर भारत और नेपाल के लोगों में काफी खुशी है.

Tags: CM Pushkar Singh Dhami, Indo Nepal China border, Pithoragarh news, Uttarakhand news



LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here