Meerut College: मेरठ कॉलेज में हॉस्‍टल को लेकर हंगामा, छात्र बोले- विरासत को डूबने नहीं देंगे

0
18


विशाल भटनागर

मेरठ. पश्चिमी उत्तर प्रदेश के सबसे बड़ी मेरठ कॉलेज में हॉस्टल के लिए फिर से हंगामा शुरू हो गया है. छात्र नेताओं ने हॉस्टल खुलवाने की मांग को लेकर परिसर से लेकर मेरठ कॉलेज के प्रिंसिपल ऑफिस तक जमकर नारेबाजी की है. मेरठ कॉलेज के छात्र नेता विजित तालियान ने कहा कि मैनेजमेंट और कॉलेज प्रशासन मिलकर गरीब छात्रों की आवाज दबा रहा है. इसके साथ उन्‍होंने कहा कि दूरदराज से छात्र-छात्राएं हॉस्टल में रहकर अपने पढ़ाई करते हैं, लेकिन कॉलेज प्रशासन ने ऐसे सभी छात्रों के सामने बड़ा संकट खड़ा कर दिया है. महंगाई के दौर में वह कैसे महंगे किराए के कमरों में रहकर पढ़ाई करेंगे.

बता दें कि मेरठ कॉलेज में कभी सात हॉस्टल थे. मेरठ ही नहीं बल्कि दूर-दराज के छात्र-छात्राएं भी यहां अध्ययन करने के लिए आते थे, लेकिन धीरे-धीरे देखरेख ना होने के कारण पांच हॉस्टल खंडहर हालत में पहुंच चुके हैं. अब एक बॉयज और एक गर्ल्स हॉस्टल ही संचालित है, जो कि 2 साल से बंद है.

विरासत को नहीं डूबने देंगे- छात्र
मेरठ कॉलेज के पूर्व छात्रसंघ अध्यक्ष सौरभ चौधरी ने कहा कि मेरठ कॉलेज की विरासतों में एक हॉस्टल भी है. यहां पर विभिन्न राजनेताओं ने रहकर अध्ययन किया है. आज भी उन हॉस्टलों में रहकर युवाओं के लिए एक प्रेरणा मिलती है. किस तरीके से अच्छी तरह पढ़ाई कर उस मुकाम तक पहुंच सकते हैं. ऐसे में कॉलेज प्रशासन जिस तरीके से हॉस्टलों को बंद कर रहा है. उसे बर्दाश्त नहीं किया जाएगा. इसी कड़ी में अनुज जावला ने कहा कि जल्द से जल्द हॉस्टल नहीं खुला तो मेरठ कॉलेज परिसर में अनिश्चितकाल के लिए धरना प्रदर्शन शुरू कर दिया जाएगा.

प्रशासन दे रहा निरीक्षण का हवाला
मेरठ कॉलेज के प्रिंसिपल एसएन शर्मा ने News18 Local से खास बात करते हुए कहा कि छात्रों के आवेदन को देखते हुए हॉस्टल का निरीक्षण किया जाएगा. उसके बाद ही कोई निर्णय होगा, क्योंकि दो साल से हॉस्टल बंद हैं. ऐसे में कोई दुर्घटना ना हो उसका भी विशेष ध्यान रखते हुए पहले हॉस्टल की स्थिति को देखी जाएगी.

Meerut College

Tags: Meerut College, Meerut news

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here