Imran Khan’s Allies Go To Court Alleging Rigging In Inconclusive Pakistan Polls – Amar Ujala Hindi News Live


Imran Khan's Allies Go To Court Alleging Rigging In Inconclusive Pakistan Polls

इमरान खान समर्थित निर्दलीय नेता पहुंचे अदालत
– फोटो : रॉयटर

विस्तार


पाकिस्तान में चुनाव तो हो गए, लेकिन परिणाम में देरी हो रही है। सरकार बनाने के लिए विभिन्न राजनीतिक दल संघर्ष कर रहे हैं।किसी भी दल को स्पष्ट बहुमत नहीं मिल पाया है। इसलिए सभी दल जोड़-तोड़ कर सरकार बनाने के प्रयास कर रहे हैं। इस बीच, कुछ रिपोर्टों में पाकिस्तान मुस्लिम लीग-नवाज के उम्मीदवारों की जीत या बढ़त के बारे में कहा गया है। इसी के खिलाफ कई लोगों ने अदालत का रुख करते हुए आरोप लगाया कि उनकी हार धांधली का परिणाम है। 

रिपोर्ट के अनुसार, अगले कुछ दिनों में कई और उम्मीदवार चुनावों में धांधली करने का आरोप लगाते हुए उच्च न्यायालयों का रुख कर सकते हैं। 

इन सीटों पर बवाल

पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (पीटीआई) से संबद्ध निर्दलीय उम्मीदवारों ने भी लाहौर उच्च न्यायालय का रुख किया, जिसमें पीपी -164 और एनए -118 के परिणामों को चुनौती दी गई, जहां पिता-पुत्र की जोड़ी शहबाज शरीफ और हमजा शहबाज ने जीत हासिल की। 

पीएमएल-एन अध्यक्ष के खिलाफ चुनाव लड़ने वाले निर्दलीय उम्मीदवार यूसुफ मियो ने अपनी याचिका में दावा किया कि निर्वाचन अधिकारी ने याचिकाकर्ता को कार्यालय में घुसने नहीं दिया। याचिका में अदालत से फॉर्म 45 के अनुसार परिणाम घोषित करने के लिए निर्वाचन अधिकारी को निर्देश देने का आग्रह किया गया है। साथ ही आरोप लगाया कि परिणाम याचिकाकर्ता की अनुपस्थिति में घोषित किए गए थे।

 

एक रिपोर्ट के अनुसार, आलिया हमजा के पति ने परिणाम को चुनौती दी और कहा कि पीएमएल-एन के उम्मीदवार फॉर्म-45 के अनुसार चुनाव हार गए हैं। दूसरी ओर, डॉ. यास्मीन राशिद ने भी लाहौर के एनए-130 निर्वाचन क्षेत्र में पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ की जीत को लाहौर उच्च न्यायालय (एलएचसी) में चुनौती दी है। एक अन्य निर्दलीय उम्मीदवार शहजाद फारूक ने मरियम नवाज की लाहौर की एनए:119 सीट से जीत को चुनौती दी जबकि पीएमएल-एन के एक अन्य उम्मीदवार अता तरार की एनए:127 से जीत को पीटीआई समर्थित निर्दलीय उम्मीदवार जहीर अब्बास खोखर ने भी अदालत में चुनौती दी।

उस्मान डार की मां रेहाना डार ने सियालकोट के एनए-71 सीट पर मतों की फिर से गिनती कराने के लिए उच्च न्यायालय में याचिका दायर कर सियालकोट निर्वाचन क्षेत्र में पीएमएल-एन के दिग्गज नेता ख्वाजा आसिफ की जीत को चुनौती दी थी।इस्लामाबाद में पीटीआई समर्थित उम्मीदवारों शोएब शाहीन और अली बुखारी ने निर्वाचन क्षेत्रों क्रमश: एनए-47 और एनए-48 के नतीजों को इस्लामाबाद उच्च न्यायालय में चुनौती दी। 

जल्द हो सुनवाई

शोएब शाहीन ने कहा, ‘हमने रजिस्ट्रार के कार्यालय से अनुरोध किया है कि जल्द से जल्द सुनवाई की जाए। पूरा इस्लामाबाद जानता है कि एनए-47 मेरा निर्वाचन क्षेत्र है। मेरे पास फॉर्म-45 है। हमने यह चुनाव महत्वपूर्ण बहुमत से जीता है।’

अतीत में किए अपराध फिर…

पीटीआई समर्थित निर्दलीय उम्मीदवार ने निर्वाचन अधिकारियों पर दबाव डालने के लिए शक्तियों को दोषी ठहराया, उन्होंने कहा, ‘आज, आप अतीत में किए गए अपराध को दोहरा रहे हैं। अब एकमात्र उम्मीद न्यायपालिका की बची है।’

किस पार्टी को कितने वोट मिले 

पाकिस्तान निर्वाचन आयोग द्वारा घोषित नतीजों के मुताबिक, पीएमएल-एन नेता तारिक फजल चौधरी को 102,502 वोट हासिल कर विजयी घोषित किया गया, जबकि पीटीआई समर्थित निर्दलीय उम्मीदवार शोएब शाहीन को 86,396 वोट मिले और निर्दलीय उम्मीदवार मुस्तफा नवाज खोखर को 17,916 वोट मिले.

इन नेताओं का दबदबा

पीएमएल-एन और इस्तेहकम-ए-पाकिस्तान पार्टी (आईपीपी) के संयुक्त उम्मीदवार खुर्रम शहजाद नवाज ने एनए -48 (इस्लामाबाद-3) में 69,699 मतों के साथ जीत हासिल की। जबकि सैयद मोहम्मद अली बुखारी 59,851 मतों के साथ दूसरे और मुस्तफा नवाज खोखर 18,572 मतों के साथ तीसरे स्थान पर रहे। पाकिस्तान निर्वाचन आयोग द्वारा घोषित नतीजों के मुताबिक, पीएमएल-एन नेता तारिक फजल चौधरी को 102,502 वोट हासिल कर विजयी घोषित किया गया, जबकि पीटीआई समर्थित निर्दलीय उम्मीदवार शोएब शाहीन को 86,396 वोट मिले और निर्दलीय उम्मीदवार मुस्तफा नवाज खोखर को 17,916 वोट मिले।

पीएमएल-एन ने 16 साल बाद संघीय राजधानी में नेशनल असेंबली की सभी तीन सीटों पर कब्जा करके क्लीन स्वीप किया।

Leave a Comment