Detail Review: ‘The Gray Man’ यानी एक्शन, एक्शन और एक्शन… उसके बाद थोड़ा और एक्शन

0
53


Detail Review ‘The Gray Man’: मार्वल सिनेमेटिक यूनिवर्स के दीवाने रूसो ब्रदर्स यानी अन्थोनी रूसो और जो रूसो को अतिशय सम्मान की दृष्टि से देखते हैं. वजह भी साफ़ है – दोनों भाइयों ने कॅप्टन अमेरिका और अवेंजर्स सीरीज की ब्लॉक बस्टर फिल्में डायरेक्ट की हैं. अवेंजर्स सीरीज की आखिरी फिल्म एन्ड गेम ने तो बॉक्स ऑफिस के आधे से ज़्यादा रिकार्ड्स तोड़ दिए थे और देखने वालों के दिल भी जब उसमें कुछ महत्वपूर्ण अवेंजर्स को उन्होंने थानोस के साथ युद्ध में मरते हुए दिखाया था.

रूसो ब्रदर्स अपनी लार्जर दैन लाइफ सिनेमा स्टाइल के लिए जाने जाते हैं. उनकी विजुअल सेंस यानि किसी भी पटकथा को भव्यतम रूप में सिनेमा के परदे पर उतारने की अद्भुत क्षमता की वजह से उनकी स्टाइल को सर्वोत्तम माना जाने लगा है. अवतार वाले जेम्स कैमरोन या स्टार वार्स वाले जॉर्ज लुकास और स्टीवन स्पीलबर्ग के अंदाज़ को अब आगे बढ़ा रहे हैं रूसो ब्रदर्स. उनकी हालिया फिल्म “द ग्रे मैन” जो 22 जुलाई को नेटफ्लिक्स पर रिलीज़ की गयी है, एक ऐसी बेहतरीन एक्शन फिल्म है जिसमें न्यूनतम कहानी में भी लगातार पर्दे पर एक्शन को इस अंदाज़ में सजाया गया है कि फिल्म देखते समय लगता है कि इस कहानी पर इस से बेहतर कोई और फिल्म बन ही नहीं सकती थी. फिल्म में एक्शन के बाद अगर कुछ आता है तो वो है और थोड़ी एक्शन. रूसो ब्रदर्स की कारीगरी देखने लायक है.

द ग्रे मैन की कहानी एकदम सरल है. अमेरिकी ख़ुफ़िया एजेंसी सीआईए के एक गुप्त डिवीज़न सिएरा के एक एजेंट, सिएरा सिक्स (रायन गोसलिंग) को बैंकॉक में एक शख्स को पकड़ कर उसका सारा सामान लूट कर लाने के लिए कहा जाता है. दोनों में घमासान लड़ाई होती है और पता चलता है कि सिएरा सिक्स जिस शख्स को मार देता है वो भी सिएरा का ही एजेंट होता है. मरने से पहले वो एजेंट सिएरा सिक्स को एक पेन ड्राइव देता है जिसमें कई ख़ुफ़िया जानकारियां होती है. ये पूरा ऑपरेशन सीआईए के एक भ्रष्ट अधिकारी डैनी कारमाइकल (रेजे ज्यां पेज) के कहने पर हो रहा होता है.

सिएरा सिक्स उस पेन ड्राइव के साथ लापता हो जाता है. उसे पकड़ने के लिए डैनी, एक भाड़े के हत्यारे लॉयड हैन्सन (क्रिस एवन्स) को सिएरा सिक्स के पीछे भेज देता है. अलग अलग देशों में कई किस्म की लड़ाइयां होती हैं जहां कभी हैन्सन तो कभी सिएरा सिक्स का पलड़ा भारी होता है. हैन्सन मौके का फायदा उठा कर सिएरा समूह के संस्थापक और सीरज सिक्स के पिता समान डोनाल्ड फिट्ज़रॉय (बिली बॉब थॉर्नटन) की भतीजी क्लेयर (जूलिया बटर्स) को अगवा कर के बंधक बनाये रखता है. सिएरा सिक्स उस तक पहुंच जाता है और फिर डैनी की साथी ही उसे गोली मार देती है. सिएरा, क्लेयर को छुड़ा लाता है और सब ठीक हो जाता है.

फिल्म की कहानी दरअसल मार्क ग्रैनी के उपन्यास द ग्रे मैन पर आधारित है. ग्रैनी ने द ग्रे मैन सीरीज में अब तक तकरीबन एक दर्ज़न नावेल लिख लिए हैं. द ग्रे मैन पर फिल्म बनाने की कोशिश काफी समय से जारी थी. 2011 में ब्रैड पिट को लेकर और फिर एक बार चार्लीज़ थेरोन को लेकर ये फिल्म बनाने का प्लान था. चार्लीज़ के साथ अगर बनती तो उसका नाम कुछ और रखना पड़ता क्योंकि चार्लीज़ एक एक्ट्रेस हैं. ये नेटफ्लिक्स की अब तक की सबसे महंगी फिल्म है. इसे बनाने के लिए नेटफ्लिक्स को 200 मिलियन डॉलर्स यानि 1 अरब 57 करोड़ रुपये खर्च करने पड़े थे.

नेटफ्लिक्स पर रिलीज़ के पहले 3 दिनों में इस फिल्म को 4.5 करोड़ लोगों ने देख लिया था. इस फिल्म का प्रमोशन भी बहुत ज़बरदस्त था और भारत में इसके देखने वाले इसलिए ज़्यादा थे कि इस फिल्म में तमिल फिल्मों के हीरो धनुष की भी एक महती भूमिका थी. रिलीज़ वाले हफ्ते में दुनिया भर के 84 देशों में ये सबसे ज़्यदा देखे जाने वाली फिल्म थी इसकी सफलता से प्रेरित हो कर नेटफ्लिक्स ने निर्णय लिया है कि इस फिल्म के सीक्वल भी बनेंगे. इसकी अगली कड़ी की स्क्रिप्ट पर काम शुरू भी हो चुका है.

फिल्म में क्रिस एवंस को पहले सिएरा सिक्स का रोल दिया था लेकिन उन्होंने विलन हैन्सन का किरदार करना पसंद किया. कई जगह पर रायन और क्रिस दोनों ने ही लीखे हुए डायलॉग की बजाये अपने खुद के डायलॉग बोलना पसंद किया, जिसकी वजह से थोड़ी मस्ती बढ़ गयी. फिल्म एक बेहतरीन एक्शन फिल्म है और इसकी पूरी सफलता का श्रेय इसकी स्टंट टीम को ही देना पड़ेगा क्योंकि न सिर्फ फिल्म में लगातार एक्शन बनी रहती है, बल्कि जो स्टंट फिल्म में हैं वो भी हैरत अंगेज़ हैं और आपका स्क्रीन से नज़रें हटाने का दिल ही नहीं करेगा. रूसो बंधुओं ने अवेंजर्स में भी इसी बात को ध्यान में रखा था इसलिए बहुत छोटी और सरल कहानी होने के बावजूद, अवेंजर्स की फिल्मों ने देखने वालों का मन तृप्त कर दिया था. द ग्रे मैन के स्टंट लाजवाब हैं. सिएरा सिक्स की एंट्री से लेकर क्लाइमेक्स की लड़ाई तक, लगातार एक्शन ने इस फिल्म को रुकने की इजाज़त ही नहीं दी और दर्शकों को एक पल के लिए भी सोचने का समय नहीं दिया।

फिल्म में तमिल स्टार धनुष का रोल छोटा ज़रूर है लेकिन जिस तरह से उनके साथी कलाकारों ने शूटिंग के दौरान और शूटिंग के बाद भी उनके अभिनय की, उनके स्टंट्स की, उनकी पर्सनालिटी की और उनके प्रोफेशनलिज्म की तारीफ की है, उस से साफ़ लगता है कि हॉलीवुड को धनुष का अंदाज़ पसंद आ गया है. उम्मीद है आने वाली सीक्वेल्स में भी उनका महत्वपूर्ण रोल रहेगा. धनुष ने भाड़े के हत्यारे का रोल किया है जो कि हैन्सन के लिए काम करता है.

पहली लड़ाई में वो रायन से पेन ड्राइव ले जाता है और दूसरी बार की लड़ाई में भी वो रायन की सहयोगी बन चुकी हैंसन की साथी, सीआईए की मिरांडा को हरा देता है लेकिन यहां वो फिर से गायब होने से पहले पेन ड्राइव मिरांडा को दे जाता है क्योंकि उसे हैन्सन का बच्चों को अगवा करने का और बिना सोचे समझे खून खराबा करने का स्टाइल पसंद नहीं आता. इस छोटे से सीन में बेहतरीन एक्शन देखते देखते आप अचानक की धनुष के फैन हो जाते हैं. क्रिस एवंस ने हैन्सन का रोल क्यों किया ये तो वो ही जाने लेकिन उन्होंने मानसिक रूप से रोगी किस्म के हत्यारे का जो रोल अदा किया है उसमें वो गज़ब लगे हैं. क्रिस हमेशा कैप्टन अमेरिका बनते हैं इसलिए उन्हें एक नेगेटिव रोल में देखना मज़ेदार रहा.

द ग्रे मैन में दर्शकों को सांस लेने का टाइम नहीं है. लगातार एक्शन चलती रहती है और इतनी भव्यता से फिल्मायी एक्शन न देखना भी गलत है. जब आपको लगता है कि अब शायद एक्शन ख़त्म, तभी शुरू होता है गोलीबारी और एक्शन का ऐसा मंज़र जो पिछले सीन से भी भारी था. फिल्म देखिये. एक्शन फिल्म किस तरह बनायीं जाती है, इसका एक बढ़िया उदहारण है.

डिटेल्ड रेटिंग

कहानी :
स्क्रिनप्ल :
डायरेक्शन :
संगीत :

Tags: Film review



LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here