Detail Review: ‘फास्ट एंड फ्यूरियस’ सीरीज की सबसे बोरिंग फिल्म है ‘F9’

0
90


Detail Review ‘F9’: डायरेक्टर जस्टिन लिन के लिए फास्ट 9 बनाना बाएं हाथ का खेल होना चाहिए था. आखिर पहली फास्ट एंड द फ्यूरियस फिल्म उन्होंने ही निर्देशित की थी. इसके बाद उन्होंने इस सीरीज की 5वीं और 6ठी फिल्म भी निर्देशित की थी. कहा तो जा रहा है कि फास्ट 9 के बाद इस सीरीज में और कोई फिल्म नहीं बनायी जायेगी यानी ये आखिरी फिल्म होगी और इसका लाजवाब होना जरूरी था. फिल्म 19 मई 2021 को सिनेमाघरों में लगी थी और साल की 5वीं सबसे बड़ी हिट फिल्म थी. संभवतः इसी वजह से इसे ओटीटी पर रिलीज़ करने में बहुत वक़्त लग गया.

आश्चर्य की बात है कि इस सीरीज की अन्य सभी फिल्मों की तुलना में ये फिल्म सबसे कमज़ोर नज़र आयी है. कोविड के बाद रिलीज़ होने वाली हर महंगी फिल्म को देखने के लिए लोग सिनेमाघरों में टूट पड़े थे, इसलिए ये फिल्म भी चल गयी. अब अमेजन प्राइम वीडियो पर रिलीज़ की गयी है. बहुत अद्भुत स्टंट वाली एक्शन थ्रिलर फिल्म की अपेक्षा कर के मत देखिएगा, निराश होने की सम्भावना है. ये फास्ट सीरीज की लगती नहीं है.

जब तक पॉल वॉकर और विन डीजल अपनी गैंग के सदस्यों के साथ एक से बढ़कर एक अपराधों को अंजाम देते थे, खतरनाक जगहों पर कार चलाते हुए स्टंट्स दिखाते थे तब तक इस सीरीज को देखने का रोमांच बना रहता था. फिल्म के डायलॉग्स तक लोगों को जुबां पर चढ़े हुए थे. विडम्बना देखिये पॉल वॉकर की मौत एक कार दुर्घटना में हो गयी जिसकी वजह से फास्ट एंड द फ्यूरियस 7 अधूरी रह गयी थी. कुछ समय बीत जाने के बाद पॉल के भाई कालेब और कोडी की मदद से स्पेशल इफेक्ट्स और कंप्यूटर ग्राफ़िक्स का इस्तेमाल करते हुए, इस फिल्म के बचे हुए दृश्यों को पूरा किया गया और फिल्म रिलीज़ हुई.

इसके बाद आने वाली फिल्में जैसे “द फेट ऑफ़ द फ्यूरियस”, फास्ट एंड फ्यूरियस प्रेजेंट हॉब्स एंड शॉ और फास्ट 9, तीनों ही फिल्में पॉल वॉकर की कमी से जूझ रही हैं. विन डीजल अकेले फिल्म नहीं चला सकते और उनका साथ देने के लिए ड्वेन जॉनसन, जेसन स्टेथम, इदरीस अल्बा और अब जॉन सेना जैसे एक्शन कलाकारों लाया गया लेकिन वो मज़ा कभी आ नहीं पाया क्यों की विन डीजल के एंग्री लुक के सामने पॉल वॉकर का शांत स्वभाव इस सीरीज की फिल्मों को काफी बैलेंस कर के रखता था.

फास्ट 9 की कहानी भी ऐसा लगता है कि सिर्फ इसलिए लिखी गयी कि एक और एंटी-हीरो किस्म के किरदार को सीरीज में लाना था और इस सीरीज में एक और सीक्वल बनाना था. गैरी स्कॉट थॉम्पसन ने फास्ट एंड द फ्यूरियस सीरीज के मुख्य किरदारों को रचा था. गनीमत है कि हर बार उनके इन किरदारों पर लिखी रची गयी फिल्मों में उन्हें क्रेडिट दिया जाता है. इस सीरीज की दूसरी फिल्म “टोक्यो ड्रिफ्ट” से बहैसियत लेखक जुड़े क्रिस मॉर्गन इस बार फिल्म के लेखक नहीं हैं बल्कि इस बार जस्टिन लिन ने डेनियल केसी और अल्फ्रेडो बोटेलो को लिखने के लिए शामिल किया है. यहां सबसे बड़ी चूक हो गयी है.

कहानी थोड़ी फ्लैशबैक में जाती है जहां डोमिनिक टोरेटो (विन डीजल) के पिता, रेस ट्रैक पर एक्सीडेंट में मारे जाते हैं. दुनिया से नाराज़ विन अपने भाई से लड़ कर उसे घर से निकाल देता है. बरसों बाद वही भाई जेकब (जॉन सेना), एक मिशन पर गए विन और उसकी टीम के हाथ से दुनिया के सबसे बेहतरीन हैकिंग डिवाइस “प्रोजेक्ट एरीज” लेकर चम्पत हो जाता है. विन की अपनी टीम में उसकी गर्लफ्रेंड लेटी (मिशेल रोड्रिगेज), बहन मिया (जोहाना ब्रूस्टर), रोमन (टायरेस गिब्सन), तेज (ल्यूडाक्रिस) और रामसे (नथालि इमानुएल) शामिल हैं.

सामने है विन का भाई जेकब (जॉन सेना), सिफर (चार्लीज़ थेरोन) और ओटो (थ्यू रासमुसेन). जैकब की तलाश करते करते विन और उसकी टीम अलग अलग देशों में घूमती रहती है जब तक कि बरसों से लापता और विन का एक पुराना साथी हान (सुंग कांग) उन्हें मिल नहीं जाता. फिर वही कार चेज़, ब्लास्ट सीन्स, कार में फिट किये गए मैगनेट से बड़ी बड़ी गाड़ियों को खींचना, शहर के रास्तों पर गाड़ियां तबाह करना, ग्रेविटी यानि गुरुत्वाकर्षण का मज़ाक उड़ाते स्टंट्स यानी फास्ट एंड द फ्यूरियस सीरीज में गारंटी से मिलने वाली हर बात, इस में भी मौजूद है. जो इस बार नहीं है वो है दर्शकों को कहानी में शामिल कर पाने की क्षमता.

विन डीजल को अपने किरदार और अभिनय के बारे में फिर से सोचना चाहिए. एक्शन सीरीज की फिल्मों में ज़्यादा अभिनय का स्कोप नहीं होता लेकिन किरदार को नए आयाम देने के बाद तो कम से कम अपना अभिनय नए तरीके से करने का सोचा जा सकता है. वो हर फिल्म में डोमिनिक टोरेटो के किरदार पर भारी पड़ते रहते हैं. उनसे बेहतर किरदार और अभिनय मिशेल रोड्रिगेज ने निभाया है. एक्शन दृश्य हों या भावनात्मक दृश्य, वो काफी सहज नज़र आती हैं. सुंग कांग की एंट्री और बेहतर हो सकती थी क्योंकि वो काफी समय के बाद गैंग के साथ नज़र आये हैं. हालांकि आगे उनका कोई खास काम ही नहीं है. जॉन सेना को अभिनय नहीं आता है और वो एक्शन स्टार हैं फिर भी उन्होंने ये रोल क्यों स्वीकार किया, ये समझ के बाहर है.

चार्लीज़ थेरोन भी बड़ी अभिनेत्री हैं, इतने छोटे से रोल के लिए उन्होंने इस फिल्म में क्यों काम किया, जबकि इसी सीरीज में फास्ट 8 में उनका रोल काफी बड़ा और महत्वपूर्ण था. बाकी के कलाकार अपने अपने रोल में फिट हैं, जैसा वो करते आये हैं, वैसा ही इस बार भी कर रहे हैं. उनके किरदार न पहले मुख्य होते थे और न अब मुख्य हैं. ड्वेन जॉनसन शायद अब इस सीरीज में वापसी नहीं करेंगे क्योंकि उनकी विन डीजल से बनती नहीं हैं. अगर ड्वेन नहीं हैं तो जेसन स्टेथम भी वापस नहीं लौटेंगे. वैसे फास्ट 10 की फिल्मिंग शुरू हो चुकी है और 2023 में रिलीज़ की जायेगी.

हाल ही में नेटफ्लिक्स पर रिलीज़ द ग्रे मैन और फास्ट एंड द फ्यूरियस सीरीज की लगभग सभी फिल्मों के सिनेमेटोग्राफर स्टीफन एफ विंडोन ने इस बार भी कैमरा संभाला है. शायद इस बार एक्शन सीक्वेंसेस में ज़्यादा डिटेलिंग नहीं की गयी और इसलिए कैमरा कमाल नहीं दिखा पाया. अंतरिक्ष में कार से सैटेलाइट को टक्कर मारने का दृश्य हास्यास्पद लगता है. स्टंट कोऑर्डिनेटर एंडी गिल, ग्रेगरी बार्नेट और जेफ्री बार्नेट के साथ करीब करीब 250 लोगों का पूरा दल इस फिल्म की शूटिंग में लगा था.

कुछ हैरत अंगेज़ स्टंट भी थे लेकिन सीरीज की पुरानी फिल्मों के मुक़ाबले कमज़ोर थे. जो बात यहां मज़ा दिला सकती थी वो दर्शकों का स्टंट से भावनात्मक तौर पर जुड़ जाना लेकिन वो इस बार फिल्म से दूर ही रहा. फास्ट 9 ने बॉक्स ऑफिस पर भले ही कमाल कर दिखाया हो, इस सीरीज के चाहने वाले इसे फिर भी एक कमज़ोर फिल्म ही मानेंगे. उम्मीद है फास्ट 10 के ज़रिये कुछ और नया और बड़ा देखने को मिलेगा क्योंकि इस बार फास्ट 10 के निर्देशक जस्टिन नहीं हैं लुई लेटेरिअर (क्लैश ऑफ़ द टाइटन, ट्रांसपोर्टर, इनक्रेडिबल हल्क इत्यादि). यूं तो इसे फास्ट सीरीज की फिल्म होने के नाते देखेंगे तो मज़ा आएगा लेकिन ये इस सीरीज की बेस्ट फिल्म नहीं है.

डिटेल्ड रेटिंग

कहानी :
स्क्रिनप्ल :
डायरेक्शन :
संगीत :

Tags: Film review



LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here