DECODE: चीन के सैन्य अभ्यास का मकसद युद्ध की हालत में ताइवान की घेराबंदी करना

0
29


हाइलाइट्स

अमेरिकी प्रतिनिधि सभा की अध्यक्ष नैंसी पेलोसी के ताइवान दौरे से चीन भड़का हुआ है.
नैंसी पेलोसी पिछले 25 वर्षों में ताइवान की यात्रा करने वाली अमेरिका की सबसे शीर्ष अधिकारी हैं.
चीन ताइवान को अपना क्षेत्र बताता है और विदेशी सरकारों के साथ उसके संबंधों का विरोध करता है.

बीजिंग. ताइवान के आसपास चीन के अब तक के सबसे बड़े सैन्य अभ्यास के पीछे का असल मकसद यह है कि जब स्व-शासित द्वीप पर कब्जा करने के लिए युद्ध की स्थिति पैदा हो, तो वह इसकी पूरी तरह से घेराबंदी कर सके. विशेषज्ञों ने एएफपी को यह जानकारी दी. इसके साथ ही उन्होंने यह भी बताया कि चीन की सेना इस अभ्यास को लेकर काफी उत्साहित है. दरअसल, अमेरिकी प्रतिनिधि सभा की अध्यक्ष नैंसी पेलोसी के ताइवान दौरे से चीन भड़का हुआ है और उसी के जवाब में वह ताइवान के चारों ओर ‘अभूतपूर्व पैमाने’ पर सैन्य अभ्यास कर रहा है. पेलोसी पिछले 25 वर्षों में ताइवान की यात्रा करने वाली अमेरिका की सबसे शीर्ष अधिकारी हैं. चीन ताइवान को अपना क्षेत्र बताता है और विदेशी सरकारों के साथ उसके संबंधों का विरोध करता है.

चीन ने कहा कि पिछले दो-तीन दिनों में ताइवान के आसपास 100 से अधिक लड़ाकू विमानों और 10 युद्धपोतों ने बड़े पैमाने पर हुए सैन्य अभ्यास में हिस्सा लिया है. चीन की आधिकारिक समाचार एजेंसी शिन्हुआ के मुताबिक, ताइवान के तट के पास छह क्षेत्रों में चलाए जा रहे ‘संयुक्त अवरोध अभियान’ में लड़ाकू विमानों से लेकर बमवर्षक विमानों, विध्वंसक जहाजों और युद्धपोतों तक का इस्तेमाल किया गया. चीनी सेना की पूर्वी थिएटर कमान ने कुछ मिसाइलों के नए संस्करण भी दागे. सैन्य अधिकारियों ने दावा किया कि इन मिसाइलों ने ताइवान जलडमरूमध्य क्षेत्र में अज्ञात लक्ष्यों को ‘पूरी सटीकता’ के साथ निशाना बनाया. इनमें ताइवान के ऊपर से प्रशांत क्षेत्र में दागी गई मिसाइलें भी शामिल हैं.

सरकारी एजेंसी सिन्हुआ के अनुसार, लड़ाकू विमानों, हेलीकॉप्टरों और यहां तक ​​कि युद्धपोतों को जुटाकर अभ्यास का मकसद ताइवान की नाकेबंदी की योजना बनाना और ‘समुद्र में लक्ष्यों पर हमले’ का अभ्यास करना शामिल है. यह पहली बार है जब चीनी अभ्यास ताइवान के इतने करीब हुए हैं, जिसमें कुछ अभ्यास द्वीप के तट से 20 किलोमीटर से भी कम दूरी पर हो रहे हैं.

Tags: China, Taiwan, Xi jinping



LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here