CM खट्टर के नाम गुमनाम चिट्ठी- नशे में धुत रहते हैं कॉलेज के प्रोफेसर, शिकायत करने पर छात्राओं से करते हैं बदतमीजी!…

0
26


हरियाणा: कैथल (Kaithal) के उपमंडल गुहला चीका (Guhla Cheeka) में एक गुमनाम चिट्ठी ने कन्या महाविद्यालय (Goverment Girls College) चीका के कई चौकानें वाले अनसुलझे रहस्य खोले हैं. शिक्षक और सड़क मुसाफिर को उसकी मंजिल तक पहुंचा देते हैं. परंतु गुहला चीका के कन्या महाविद्यालय में शिक्षक ही छात्राओं की पढ़ाई में रोड़ा बनकर उभर रहे हैं. छात्राओं को उनकी मंजिल तक पहुंचाने की बजाए नशे में धुत होकर उनके साथ बदतमीजी से पेश आ रहे हैं, जिसकी पोल एक गुमनाम चिट्ठी ने उस समय खोल दी जब कैथल की डीसी संगीता तेतरवाल को एक गुमनाम चिट्ठी प्राप्त हुई.

छात्राओं ने गुमनाम चिट्ठी के माध्यम से शिकायत करते हुए बताया कि हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर द्वारा बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ अभियान के तहत गुहला चीका में कन्या महाविद्यालय बनाने के लिए धन्यवाद करती हूं. परंतु सरकार की नीतियों और शिक्षा का प्रचार प्रसार करने वाले शिक्षक ही सरकार की नीतियों पर सरेआम पलीता लगा रहे हैं. कॉलेज के एक शिक्षक द्वारा ही अपनी फेसबुक वॉल पर अश्लील तस्वीरें लगाई गई हैं, जो उस शिक्षक की मानसिकता को दर्शाता है और छात्राओं के प्रति शिक्षक के रवैए पर सवाल उठाता है.

छात्राओं ने कहा कि शिक्षक अपने कर्तव्य का निर्वहन इमानदारी से नहीं कर रहें और उन्हें पढ़ाते तक नहीं है. जब उनका जी करता है तब कक्षाएं लेते हैं और शिकायत करने पर बदतमीजी से पेश आते हैं. छात्राओं ने कॉलेज की एक घटना का जिक्र करते हुए कहा कि लगभग 2 महीने पहले उनके कॉलेज की तीसरी मंजिल से एक असिस्टेंट प्रोफेसर ने छलांग लगा दी थी प्रोफेसर द्वारा छलांग क्यों लगाई गई इसके पीछे क्या कारण थे इस घटना को दबाने के लिए पूरे कालेज प्रबंधन जुटा हुआ था परंतु छात्राओं की गुमनाम चिट्ठी ने कार्य प्रबंधन के पूरे राज खोल दिए. गुमनाम चिट्ठी की जांच करने के लिए डीसी कैथल संगीता तेतरवाल ने कन्या महाविद्यालय के प्राचार्य राजेंद्र अरोड़ा को आदेश दिए जिसके बाद राजेंद्र अरोड़ा ने 3 प्रोफेसरों की कमेटी बनाकर जांच करवाई और जांच कमेटी ने 2 महीने बाद अपनी 74 पन्नो की रिपोर्ट राजेंद्र अरोड़ा को सौंपी और राजेंद्र अरोड़ा ने वह रिपोर्ट डीसी कैथल को सौंप दी है.

OMG! सहारनपुर-पंचकूला हाईवे पर आवर्धन नहर पर बने पुल के 4500 नट बोल्ट ले उड़े चोर

जिला उपायुक्त संगीता तेत्रवाल ने बताया की मामला संज्ञान में आने के बाद कॉलेज में एक कमेटी बनाकर जांच के आदेश दिए थे जिसमें एक प्रोफेसर को दोषी पाया गया है. वहीं जिस अध्यापक पर कॉलेज में लडकियों के साथ पाए जाने के आरोप है उसकी जांच पुलिस द्वारा करवाई जा रही है.

Tags: Haryana CM, Haryana news, Haryana School



LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here