BPSC पेपर लीक कांड: गिरफ्तार डीएसपी रंजीत रजक के घर से ससुराल तक हो रही छापेमारी

0
19


पटना. 67 वीं बीपीएससी पेपर लीक कांड में गिरफ्तार किए गए डीएसपी रंजीत रजक की मुश्किलें लगातार बढ़ती जा रही हैं. आर्थिक अपराध इकाई की टीम ने बीएमपी पटना 14 में तैनात रहे और पिछले दिनों निलंबित हुए डीएसपी रंजीत रजक के चार ठिकानों पर शनिवाक को एक साथ छापेमारी शुरू की है. रंजीत रजक के पटना के रूपसपुर स्थित किराये के अपार्टमेंट के फ्लैट के अलावा अररिया और कटिहार में ठिकानों पर छापेमारी चल रही है. डीएसपी रंजीत रजक की बीपीएससी पेपर लीक कांड में संलिप्तता सामने आई थी.

जब इस मामले में गया के राम शरण सिंह इवनिंग कॉलेज के प्राचार्य को गिरफ्तार किया गया था तो प्राचार्य और डीएसपी रंजीत रजक के आपसी बातचीत और कन्वर्सेशन का सारा रिकॉर्ड आर्थिक अपराध इकाई की टीम को मिला था. उनसे जब पूछताछ की गई थी तब वह माकूल जवाब नहीं दे पाए थे उसके बाद उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया था. फिलहाल रंजीत रजक के भाई और बहनोई के अलावा उनके कई रिश्तेदार आर्थिक अपराध इकाई के राडार पर हैं. आर्थिक अपराध इकाई के द्वारा इस मामले में न्यायालय से तलाशी के लिए परमिशन प्राप्त करने के बाद ये कार्रवाई हुई है.

पुलिस उपाधीक्षक और निरीक्षक के नेतृत्व में पटना के रूपसपुर थाना अंतर्गत स्थित किराए के मकान, कटिहार जिला स्थित उनके पैतृक आवास पर छापेमारी की जा रही है. वहीं कटिहार में उनका पेट्रोल पंप है. इसके अलावा रंजीत कुमार रजक का ससुराल अररिया में है, वहां भी छापेमारी की जा रही है. छापेमारी के बाद ही कहा जा सकेगा कि इनके ठिकानों से टीम को क्या कुछ मिला है. बीपीएससी पेपर लीक कांड में आर्थिक अपराध इकाई की टीम ने एसआईटी टीम ने रंजीत रजक के रिश्तेदारों को भी रडार पर ले लिया है.

रंजीत रजक के भाई और बहनोई के अलावा उनके दोस्तों को भी आर्थिक अपराध इकाई की टीम ने पूछताछ के लिए तैयार कर लिया है. पुलिस सूत्रों की मानें तो एक बार परीक्षा पास करने के बाद डीएसपी रंजीत कुमार रजक ने खुद भी दोबारा बीपीएससी की परीक्षा दी थी. इस बार उनका रैंक भी बेहतर आया मगर उन्होंने प्रशासनिक सेवा की बजाय डीएसपी के पद पर ही रहने का फैसला लिया. उस समय उनके साथ बड़े भाई ने भी बीपीएससी की परीक्षा पास की थी जो प्रशासनिक अधिकारी के पद पर हैं. इसी बैच में एक और व्यक्ति ने भी बीपीएससी की परीक्षा पास की थी जिससे रंजीत कुमार रजक ने अपनी बहन की शादी कर दी.

यह सिलसिला यहीं नहीं थमा. इसके बाद डीएसपी रंजीत के छोटे भाई ने भी परीक्षा पास की और श्रम परिवर्तन पदाधिकारी बन गए. एक साथ इतने संयोग से जांच टीम भी हैरान है. सूत्रों के अनुसार, ईओयू ने इस बाबत बीपीएससी अधिकारियों को भी पत्र लिखा है और अपने स्तर से इस मामले की जांच करने को कहा है.

Tags: Bihar News, BPSC, PATNA NEWS



LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here