32 Years of Aashiqui: राहुल रॉय-अनु अग्रवाल 32 साल में हो गए गुमनाम, 6 महीने हाउसफुल चली थी ‘आशिकी’

0
25


32 Years of Aashiqui: 90 के दशक के लोगों को आज भी फिल्म ‘आशिकी’ (Aashiqui) भुलाए नहीं भूलती है. तमाम प्रेमियों के दिलों को ठंडक पहुंचाने वाले फिल्म के गीत हो या राहुल रॉय (Rahul Roy) और अनु अग्रवाल के (Anu Aggarwal) की रोमांटिक जोड़ी, इस फिल्म के हर पहलू को दिग्गज निर्देशक महेश भट्ट (Mahesh Bhatt) ने इस खूबसूरती से पर्दे पर उकेरा था कि कई दर्शकों ने तो एक साथ फिल्म के कई-कई शो एक साथ देख डाले थे. रातों-रात पहली फिल्म से स्टार बन गए राहुल रॉय को इस फिल्म का ऑफर मिलना भी किसी करिश्में से कम नहीं था. चलिए फिल्म के 32 साल पूरे होने पर बताते हैं इससे जुड़ा दिलचस्प किस्सा.

17 अगस्त 1990 में जब रिलीज फिल्म ‘आशिकी’ के गुलशन कुमार प्रोड्यूसर थे और महेश भट्ट निर्देशक. दोनों ने ही नए-नए कलाकारों राहुल रॉय और अनु अग्रवाल पर दांव खेला था. लेकिन दांव सही साबित हुआ, इस म्यूजिकल फिल्म के हिट होते ही राहुल को रोमांटिक हीरो और लवर ब्वॉय का तमगा मिल गया. सपने में भी किसी ने नहीं सोचा होगा कि मॉडलिंग करने वाला लड़का अपनी पहली फिल्म से ही सुपर स्टार बन जाएगा.

aashiqui film poster

‘आशिकी’ से रातों-रात स्टार बन गए थे राहुल रॉय, अनु अग्रवाल. (फोटो साभार: film poster )

राहुल रॉय को ऐसे मिली थी फिल्म
दरअसल, राहुल रॉय की मां इंदिरा रॉय एक कॉलम लिखा करती थीं और उनकी महेश भट्ट से दोस्ती थी. एक दिन इंदिरा से मिलने महेश पहुंचें और किसी मुद्दे पर बात कर रहे थे तभी महेश की नजर दीवार पर टंगी इंदिरा के बेटे रॉहुल की तस्वीर पर पड़ी. महेश भट्ट उठकर फोटो के करीब गए और देखते ही तय कर लिया कि उनकी अगली फिल्म का हीरो यही लड़का  होगा. उस समय रॉहुल मॉडलिंग किया करते थे. महेश ने राहुल के साथ एक नई नवेली लड़की अनु अग्रवाल को लेकर फिल्म बनाई ‘आशिकी’, इस फिल्म की शोहरत ऐसी कि आज भी राहुल और अनु को याद किया जाता है.

 6 महीने हाउसफुल थी ‘आशिकी’
इस फिल्म की बंपर सफलता को देखते हुए सबको भरोसा हो गया था कि राहुल रॉय और अनु अग्रवाल के रुप में बॉलीवुड को अगली सुपरहिट जोड़ी मिल गई. इस फिल्म में राहुल-अनु की मासूमियत को महेश भट्ट ने जिस खूबसूरती से सिल्वर स्क्रीन पर संगीत के माध्यम से उकेरा था कि देखने वाले सम्मोहित हो गए थे. इस फिल्म की रिकॉर्डतोड़ सफलता का अंदाजा इसी से लगाया जा सकता था है कि ‘आशिकी’ 6 महीने तक हाउसफुल रही थी.

mahesh bhatt rahul roy

राहुल रॉय के मेंटर महेश भट्ट. (फोटो साभार: officialrahulroy/Instagram )

राहुल -अनु ‘आशिकी’ वाली सफलता दोहरा नहीं पाए
राहुल रॉय ‘आशिकी’ वाला करिश्मा अपनी पूरी जिंदगी में दोहरा नहीं पाए. आशिकी के बाद करीब 25 फिल्में की जो फ्लॉप रहीं तो कई महीने राहुल को काम नहीं मिला. कहते हैं कि लंबे समय बाद राहुल को एक दो नहीं बल्कि 60 फिल्मों के ऑफर मिले. राहुल ने करीब 47 फिल्मों को फटाफट साइन कर लिया. इस चक्कर में कई ऐसी फिल्में साइन की जो बुरी तरह बॉक्स ऑफिस पर पिटने के बाद उनके करियर को फ्लॉप बनानी वाली साबित हुईं. ‘आशिकी’ के बाद ‘फिर तेरी याद आई’, ‘जानम’, ‘सपने साजन के’ , जुनून जैसी फिल्में की लेकिन सफलता नहीं मिली लिहाजा इंडस्ट्री से दूरी बना ली. राहुल रॉय ही नहीं बल्कि अनु अग्रवाल भी पहली फिल्म की सफलता दोबारा हासिल नहीं कर पाईं और दोनों ही सितारे गुमनामी में खो गए.

‘आशिकी’ के हर गाने दिल छू लेने वाले
गुलशन कुमार के इस फिल्म के शानदार संगीत की जबरदस्त सफलता से नदीम-श्रवण की जोड़ी भी सुपरहिट हो गई थी. नदीम-श्रवण के संगीत से सजा ‘आशिकी’ फिल्म का हर गाना दिल को छू लेने वाला है. मदहोशी भरे संगीत की वजह से इस फिल्म ने म्यूजिक कैटेगरी के चारो फिल्मफेयर अवॉर्ड अपने नाम किए थे. बेस्ट म्यूजिक से लेकर बेस्ट प्लेबैक सिंगर मेल और फीमेल के अलावा बेस्ट लिरिसिस्ट अवॉर्ड से सम्मानित किया गया था.

Tags: Bollywood films, Entertainment Special, Mahesh bhatt



LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here