सत्ता बदली तो नीतीश कुमार के साथ गए जीतन राम मांझी, बताई समर्थन की वजह

0
37


पटना. बिहार में सत्ता परिवर्तन के साथ ही दलबदल का भी खेल लगातार जारी है. मंगलवार की दोपहर जहां जेडीयू ने एनडीए ने खुद को से अलग कर लिया तो वहीं शाम होते-होते एनडीए के एक अन्य घटक दल और पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी की पार्टी हम ने भी इस गठबंधन से किनारा कर लिया. बिहार के राजनीतिक हालात पर पार्टी के विधायक दल की बैठक हुई जिसमें जीतन राम मांझी ने नीतीश कुमार पर भरोसा जताते हुए उनके साथ जाने का फैसला लिया.

पार्टी की ओर से जारी किए गए बयान के मुताबिक नीतीश कुमार की सरकार में जीतन राम मांझी की पार्टी हम बिना शर्त महागठबंधन सरकार को समर्थन देगी. पार्टी के सभी चार विधायकों ने नीतीश कुमार के नेतृत्व में आस्था जताई है. हम के समर्थन के साथ ही बिहार में महागठबंधन के विधायकों की संख्या 164 हो गई है. बिहार के ताजा राजनैतिक हालात की बदौलत बिहार विधान सभा में 77 विधायकों के साथ अब BJP विपक्ष में बैठेगी.

बिहार में हुए सत्ता परिवर्तन और नीतीश कुमार के एनडीए छोड़ने पर बीजेपी की तरफ से भी प्रतिक्रिया आई है. डिप्टी सीएम रेणु देवी ने कहा कि हमलोग नीतीश कुमार को अपना गार्जियन मानते थे. उन्होंने हम लोगों और बिहार की जनता के साथ धोखा किया है. रेणु ने कहा कि बड़ी पार्टी होने के बाद भी पीएम मोदी के वादे के अनुसार नीतीश कुमार को मुख्यमंत्री बनाया गया था लेकिन उन्होंने ऐसा काम कर दिया.

बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष संजय जयसवाल ने कहा कि 2020 में एनडीए में हम सबों ने चुनाव लड़ा. जनता ने जेडीयू-बीजेपी को जनाधार दिया. आज जो कुछ हुआ बीजेपी और बिहार की जनता से धोखा हुआ. जायसवाल ने कहा कि नीतीश कुमार जवाब देंगे जो हुआ है उसके बारे में.

Tags: Bihar News, Bihar politics, Jitan ram Manjhi, Nitish kumar



LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here