बिहार: विद्यालय बना मदिरालय ! शराब कारोबारियों ने स्कूल को बनाया शराब का गोदाम

0
16


हाइलाइट्स

वित्तरहित विद्यालय के कमरे से लाखों रुपए के140 कार्टन विदेशी शराब बरामद.
लालगंज थाना क्षेत्र के खंजाहाचक संसारो रामरती उच्च विद्यालय का है यह मामला.

हाजीपुर. बिहार सरकार चाहे लाख दावा कर ले, लेकिन इन दावों से इतर एक हकीकत भी है. बिहार में पूर्ण शराबबंदी सफलता से लागू करने के दावे के बीच स्थिति यह है कि शिक्षा के मंदिर में विदेशी शराब बड़े पैमाने पर पकड़े जा रहे हैं. मामला वैशाली के लालगंज का है जहां बेखौफ शराब कारोबारियों ने अपने बुलंद हौसले का परिचय देते हुए एक विद्यालय को ही शराब का गोदाम बना दिया है.

शराब कारोबारियों का दुस्साहस ऐसा है कि विद्यालय के कमरे में शराब रखने के लिए धंधेबाजों ने विद्यालय का ताला तोड़कर अपना ताला तक लगा दिया. मामला लालगंज थाना क्षेत्र के खंजाहाचक वृंदावन गांव स्थित संसारो रामरती उच्च विद्यालय का है. बताया जा रहा है कि सुबह विद्यालय का आदेशपाल जब स्कूल पहुंचा तो देखा कि विद्यालय के जिस कमरे का इस्तेमाल कबाड़ रखने के लिए किया जाता है, उस कमरे में लगा विद्यालय का ताला तोड़कर नया ताला लगा हुआ है.

आदेशपाल ने तत्काल ही इसकी सूचना प्रधानाध्यापक को दी और प्रधानाध्यापक ने विद्यालय पहुंचते ही इसकी सूचना स्थानीय मुखिया और अन्य लोगों को दी. उनकी सूचना पर लालगंज थाना की पुलिस भी विद्यालय पहुंची. जब ताला खोला गया तो कमरे में भारी मात्रा में शराब रखी हुई थी जिसे देख कर पुलिस के साथ ही स्थानीय लोग भी दंग रह गए. पुलिस ने जब शराब का कार्टन निकलना शुरू किया तो एक के बाद एक कुल 140 कार्टन शराब कमरे से बरामद किया गया. लालगंज थाना की पुलिस ने इसे कब्जे में लिया है और मामले की जांच में जुट गई है.

स्कूल के प्रधानाध्यापक पवन कुमार शुक्ला का कहना है कि 1 दिन पहले तक स्कूल का ताला बंद था. जानकारी मिली कि दूसरा ताला लगा हुआ है. जिसके बाद पुलिस को सूचना दी गई तो यहां से शराब बरामद किया गया. वहीं मौके पहुंचे लालगंज के दरोगा बृजेश सिंह ने बताया कि सूचना के आधार पर पुलिस स्कूल में पहुंची है जहां से शराब बरामद की गई है.

बहरहाल, इन सबके बीच एक बात तो तय है कि बिहार में शराब तस्करों और अपराधियों का मनोबल काफी बढ़ा हुआ है. जितनी बड़ी मात्रा में विदेशी शराब स्कूल में छिपाई गई थी यह किसी एक बैग में लाकर रखना संभव नहीं है. इसके लिए बजाप्ता एक बड़ी गाड़ी या दो तीन छोटी गाड़ियों का इस्तेमाल किया गया होगा. साथ ही तमाम थानों के बॉर्डर पार किए गए होंगे.



LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here