बायोटीन शरीर के लिए क्यों है ज़रूरी? जानें किन फूड्स के सेवन से हो सकती है इसकी कमी दूर

0
18


हाइलाइट्स

बायोटिन को विटामिन बी 7 कहते हैं.
बायोटिन पानी में घुलनशील होता है.
बायोटिन की कमी होने पर अंडा, मशरूम, सैल्मन मछली आदि खाएं.

Biotin Benefits in Hindi: स्वस्थ शरीर को बनाए रखने के लिए हर तरह के पोषक तत्वों शामिल करना ज़रूरी होता है, लेकिन अक्सर लोग अपने खानपान पर ध्यान नहीं देते हैं, जिसके कारण कई शारीरिक समस्याओं से ग्रस्त हो जाते हैं. कई तरह के पोषक तत्व हैं, जिसमें से एक है बायोटिन (Biotin). विटामिन बी7 या विटामिन एच को ही बायोटिन कहते हैं. बायोटीन का काम शरीर को भोजन को ऊर्जा में बदलने में मदद करना है. यह एक प्रकार का बी विटामिन है. यह पानी में घुलनशील होता है. शरीर में बायोटिन के स्तर को बनाए रखने के लिए बायोटिन से भरपूर फूड्स का सेवन ज़रूरी होता है. आइए जानते हैं बायोटीन सेहत के लिए क्यों है ज़रूरी और इसके फूड सोर्स क्या-क्या हैं.

इसे भी पढ़ें: बायोटीन बालों के साथ त्वचा और नाखूनों को भी रखता है हेल्दी, जानिए कैसे

क्या होता है बायोटिन?

स्टाइल्सएटलाइफ डॉट कॉम में छपी एक रिपोर्ट के अनुसार, बायोटिन को विटामिन बी7 कहते हैं. यह प्राकृतिक रूप से कई तरह के खाद्य पदार्थों में मौजूद होता है. यह बालों और नाखूनों को स्वस्थ बनाए रखने के लिए बेहद आवश्यक पोषक तत्व है. बायोटिन एक वॉटर-सॉल्युबल विटामिन है. शरीर पानी में घुलनशील इस विटामिन को संग्रहित नहीं करता है. बायोटिन लिवर, बाल, त्वचा, मस्तिष्क के कार्यों को बेहतर बनाए रखने के साथ ही इन्हें हेल्दी रखने के लिए महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है.

बायोटिन से भरपूर खाद्य पदार्थ

अंडा- यदि आपके शरीर में विटामिन बी7 यानी बायोटिन की कमी हो गई है, तो इसके लिए अंडे का सेवन करें. अंडा हर उम्र के लोगों को खाना चाहिए. अंडे में प्रोटीन अधिक होता है, साथ ही कई अन्य विटामिंस, मिनरल्स भी होते हैं. इसके पीले वाले भाग में बायोटिन मौजूद होता है. चूंकि अंडे के सेवन से आपको जिंक, सेलेनियम, विटामिन ए, डी भी प्राप्त होता है, इस वजह से एन्डोक्राइन सिस्टम अपना काम सही तरीके से करती है. हमेशा अंडे को अच्छी तरह से पका कर ही खाएं, क्योंकि कच्चा खाने से बायोटिन का एब्जॉर्प्शन सही तरीके से नहीं हो पाता है.

इसे भी पढ़ें: क्या आप जानते हैं शरीर में विटामिन बी7 की कमी से क्या दिक्कतें हो सकती हैं?

सैल्मन मछली- सैल्मन बायोटिन और ओमेगा-3 फैटी एसिड से भरपूर होती है. इसके सेवन से कई तरह की शारीरिक समस्याएं दूर होती हैं. यह आपके बालों और त्वचा को स्वस्थ रखने में मदद करती है. प्रदूषकों के कारण होने वाली सूजन को भी कम करती है.

मशरूम खाएं- बायोटिन का बेहतरीन सोर्स है मशरूम. साथ ही इसमें कई अन्य पोषक तत्व भी पाए जाते हैं, जो सेहत को लाभ पहुंचाते हैं. सब्जी, सूप, पास्ता, पिज्जा, नूडल्स, सलाद आदि में मशरूम का इस्तेमाल करके सेवन किया जा सकता है.

शकरकंद- शकरकंद में भी बायोटिन काफी अच्छी मात्रा में मौजूद होता है. बीटा कैरोटीन, विटामिंस, मिनरल्स, कैरोटेनॉएड्स एंटीऑक्सीडेंट्स, फाइबर आदि से भरपूर शकरकंद आप उबाल कर खा सकते हैं. बीटा कैरोटीन पाचन तंत्र को बेहतर बनाने के साथ ही आंखों की सेहत को भी दुरुस्त रखता है. आंखों की रोशनी लंबी उम्र तक अच्छी बनी रहती है.

डेयरी प्रोडक्ट्स- इनमें दही, दूध, चीज का सेवन कर सकते हैं, क्योंकि ये सभी विटामिन बी7 से भरपूर होते हैं. इन्हें डाइट में नियमित रूप से शामिल कर सकते हैं. डेयरी प्रोडक्ट्स में पोटैशियम, प्रोटीन, विटामिन डी, कैल्शियम आदि सोर्स होते हैं. हालांकि, दूध, दही, चीज आदि में अलग-अलग मात्रा में बायोटीन मौजूद होता है.

बायोटीन के अन्स फूड सोर्स- बायोटीन ऊपरोक्त फूड्स में होने के अलावा, स्ट्रॉबेरीज, ब्रोकली, एवोकाडो, नट्स आदि में भी मौजूद होता है, जिसका सेवन आप अवश्य कर सकते हैं.

Tags: Health, Lifestyle



LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here