पाकिस्तान : बाढ़ के बाद अब मलेरिया का अटैक! अन्य बीमारियों का भी बढ़ रहा खतरा, 324 की मौत

0
17


हाइलाइट्स

मलेरिया, टाइफाइड और डेंगू बुखार जैसी बीमारियां बाढ़ प्रभावित इलाकों में तेजी से फैल रही हैं.
बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में मलेरिया और अन्य बीमारियों से मरने वालों की संख्या 324 तक पहुंच गई है.
रुके हुए बाढ़ के पानी के कारण पाकिस्तान में लोगों के स्वास्थ्य पर खतरा पैदा हो गया है.

कराची. पाकिस्तान में बाढ़ के कारण हालात काफी गंभीर है. देश लगातार बाढ़ का खामियाजा भुगत रहा है. एक्सप्रेस ट्रिब्यून के अनुसार मलेरिया, टाइफाइड और डेंगू बुखार जैसी बीमारियां बाढ़ प्रभावित इलाकों में तेजी से फैल रही हैं. बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में मलेरिया और अन्य बीमारियों से मरने वालों की संख्या 324 तक पहुंच गई है. पाकिस्तान के कई प्रांतों में रुके हुए बाढ़ के पानी ने त्वचा और आंखों में संक्रमण, दस्त, मलेरिया, टाइफाइड और डेंगू बुखार के व्यापक मामलों को जन्म दिया है. इससे पाकिस्तान में लोगों के स्वास्थ्य पर खतरा पैदा हो गया है.

एक्सप्रेस ट्रिब्यून के अनुसार सरकार, स्थानीय और विदेशी राहत संगठनों के प्रयासों के बावजूद स्थिति गंभीर बनी है. बाढ़ प्रभावित इलाकों में काफी लोगों को भोजन और दवा की तत्काल आवश्यकता है. एक सर्वे के अनुसार नकदी की कमी से जूझ रहे पाकिस्तान में अभूतपूर्व प्राकृतिक आपदा के प्रति सरकार की प्रतिक्रिया से अधिकांश पाकिस्तानी नाखुश हैं. छह सप्ताह की बाढ़ के बाद 15 स्थानों पर कई परिवार सड़कों पर बिना टेंट के खुले आसमान के नीचे रहने को मजबूर हैं.

इस साल जून के बाद से पाकिस्तान ने भीषण मानसून के मौसम का सामना किया है जिसके परिणामस्वरूप गंभीर संकट पैदा हो गया है. सरकारी अनुमानों के अनुसार देश भर में लगभग 33 मिलियन लोग लगातार भारी बारिश और बाढ़ से प्रभावित हुए हैं. लाखों एकड़ फसलें और बाग जिनमें से कई फसल के लिए तैयार थे क्षतिग्रस्त और नष्ट हो गए हैं. पाकिस्तान में अधिकांश परिवारों और देश की अर्थव्यवस्था के लिए खेती महत्वपूर्ण है.

इस बीच गुरुवार को खबर आई कि पाकिस्तान के स्वास्थ्य अधिकारियों ने मलेरिया के प्रकोप से बचने के लिए करीब 71 लाख मच्छरदानी खरीदने के लिए सरकार से अनुमति मांगी है. मालूम हो कि पाकिस्तान में कुल 160 जिले हैं. इनमें से आधों को बाढ़ प्रभावित इलाका घोषित किया जा चुका है. साथ ही यह संख्या और बढ़ने की उम्मीद है.

Tags: Flood, Pakistan



LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here