चिराग पासवान बोले- परिस्थितियों का तो पता नहीं लेकिन नीतीश कुमार पलटी जरूर मारेंगे

0
25


हाइलाइट्स

चिराग पासवान ने नीतीश कुमार को अब तक का सबसे कमजोर सीएम बनाया
चिराग पासवान ने नीतीश कुमार की तुलना कंस मामा से की
चिराग पासवान ने कहा कि सीएम को बिहार के विकास से मतलब ही नहीं है

पटना. बिहार में जारी सियासी सुगबुगाहट के बीच लोजपा (रामविलास) के सांसद चिराग पासवान ने बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर जमकर निशाना साधा. चिराग ने पटना में कहा कि मुख्यमंत्री जी हिम्मत है, तो अकेले चुनाव लड़ें, दहाई अंक भी नहीं मिल पायेगा. अगर विकास का नीतीश मॉडल सही है तो अकेले लड़ें. बिना गठबंधन के लड़ें. चिराग पासवान ने कहा कि आरसीपी जी खुद सक्षम हैं. वो बोलने लगेंगे तो मुख्यमंत्री को सोचना पड़ेगा. बिहार में मध्यावधि चुनाव होंगे. कोई भी गठबन्धन की सरकार 5 साल नहीं चल सकती है. परिस्थितियां कैसी होगी ये पता नही ,लेकिन मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पलटी जरूर मारेंगे मुख्यमंत्री रहते उनको बिहार की जनता से कोई मतलब नहीं है.

चिराग ने कहा कि नीतीश कुमार बिहार में मुख्यमंत्री बने रहेंगे, राष्ट्रपति बनेंगे, उपराष्ट्रपति बनेंगे सिर्फ इसकी चर्चा हो रही है. बिहार की चिंता और जनता के मुद्दे की चिंता नीतीश कुमार को नहीं है. चिराग ने कहा कि चिराग मॉडल तो विकास का है. चिराग मॉडल का समर्थन 32 लाख जनता ने किया है. मुख्यमंत्री का क्या मॉडल है ये बतायें. चिराग ने कहा कि बिहार मेंअपराध को चरम पर ले जाना, बेरोजगारी को चरम पर ले जाना, क्या यही विकास है.

चिराग ने जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष ललन सिंह के बयान पर कहा कि पानी में चलने वाला जहाज कैसे दौड़ेगा, पहले वो ये बतायें. वो जदयू के नीति निर्धारक हैं. चिराग ने कहा कि राष्ट्रीय अध्यक्ष जवाब दें कि चिराग मॉडल कौन तैयार कर रहा है. चिराग ने यह भी साफ किया कि चिराग किसी का मॉडल है तो रामविलास पासवान का ,उनके सपनों का. सांसद चिराग पासवान ने नीतीश कुमार पर हमला जारी रखते हुए कहा मुख्यमंत्री जी किसी के सगे नहीं हैं.

चिराग ने कहा कि जिस तरह से कंस मामा एक-एक को मारते गए उसी तरह मुख्यमंत्री जी का इतिहास लम्बा रहा है. अपने ही नेताओं को प्रताड़ित किया है. सांसद ने कहा बीजेपी को ये डर दिखाते रहते हैं और जनता को जंगलराज दिखा कर सत्ता में आये थे. बीजेपी को कमजोर करने की हर कोशिश की है इन्होंने. गठबंधन में इन्होंने कभी भी साझा कार्यक्रम नहीं शुरू किया, मैंने भी उस समय यही विरोध किया था. मैंने बिहार फर्स्ट बिहारी फर्स्ट का सुझाव दिया लेकिन मुख्यमंत्री ने सिर्फ अपने बारे में सोचा, जनता के बारे में नहीं.

चिराग ने कहा कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा था मिट्टी में मिल जायेंगे बीजेपी में नहीं जायेंगे. चिराग ने कहा कि चिराग मॉडल की बात कर रहे हैं तो ये साबित करता है मेरे विजन को. बिहार में इतने कमजोर मुख्यमंत्री कभी नहीं बने हैं. आने वाला समय इनको याद रखेगा. इतिहास सत्ता के लोभी के रूप में इनको याद करेगा. नीतीश कुमार आप चिराग पासवान का नाम लेकर बीजेपी पर सिर्फ दवाब बना रहे हैं. जो मुख्यमंत्री आठ सालों में तीसरी बार गठबंधन करने जा रहे हों, उनसे क्या उम्मीद की जा सकती है.

Tags: Bihar News, Bihar politics, Chirag Paswan



LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here