उत्तराखंड मौसमः बारिश की आफत आज और; ऋषिकेश में गंगा उफान पर तो बद्रीनाथ व गंगोत्री हाईवे फिर ठप

0
26


देहरादून. उत्तराखंड के पहाड़ों के लोगों के लिए राहत की खबर यह है कि कल रविवार से मौसम साफ हो सकता है, लेकिन सब्र करने की खबर यह भी है कि आज 6 अगस्त को और बारिश की मुसीबतों से दो चार होना पड़ेगा. मौसम विभाग ने शनिवार को भी कम से कम पांच ज़िलों के लिए तेज़ बारिश का यलो अलर्ट जारी किया है. वहीं, पहाड़ों में पिछले 24 घंटों से हो रही बरसात के कारण नदियां और नाले उफान पर हैं. बद्रीनाथ और गंगोत्री नेशनल हाईवे की हालत लगातार खराब है और एक बार फिर हाईवे कई पाॅइंट्स पर ठप हैं.

आंचलिक मौसम विज्ञान केंद्र के निदेशक बिक्रम सिंह ने बताया कि देहरादून, टिहरी, पौड़ी, नैनीताल और बागेश्वर में आज भी तेज बारिश के आसार हैं और यात्रियों को सतर्क रहने की हिदायत दी गई है. मौसम विभाग का अनुमान है कि कल से पूरे उत्तराखंड में मौसम साफ होगा. इधर, पहाड़ों में हाईवे और ग्रामीण सड़कें बड़ी संख्या में बंद होने से जगह जगह यात्री फंसे हुए हैं. दूसरी समस्या यह है कि रास्ते बाधित होने के चलते बच्चों को स्कूल जाने के लिए जोखिम उठाने की तस्वीरें भी सामने आ रही हैं.

ये है उत्तराखंड के रास्तों की हालत

टिहरी ज़िले में बारिश के चलते 10 ग्रामीण सड़कों के साथ ही एक स्टेट हाईवे बंद पड़ा है. इधर, बद्रीनाथ नेशनल हाईवे इस हफ्ते के ढर्रे पर ही फिर बंद पड़ा है. कर्णप्रयाग के पास लंगासू और लामबगड़ में भी सड़क पर मलबा आने से यह रास्ता ठप है, जिसे खोलने का काम शुक्रवार देर रात से ही चल रहा है. चमोली ज़िले में लगातार बारिश और पहाड़ में लैंडस्लाइड की वजह से बद्रीनाथ हाईवे देर रात से ही ठप है. इससे पहले कल ही इस हाईवे पर 10 मीटर की सड़क नाले की बहाव में बह गई थी.

उत्तरकाशी ज़िले में भी रात भर हुई भारी बारिश के चलते गंगोत्री हाइवे सुखी के पास बन्द हो गया. सुखी नाला उफान पर आने से बड़ी मात्रा में मलबा और पत्थर बहा लाया, जिससे गंगोत्री हाइवे पर चार जगह मलबे के ढेर लग गए. मार्ग बन्द होने से आज सुबह से ही यात्री व स्थानीय लोग जगह-जगह फंस गए. बीआरओ की मशीनें एनएच खोलने में जुटी रहीं. लंबे समय से ग्रामीण सामरिक नज़रिये से अहम इस जगह पुल बनाने के साथ ही सुखी नाले के ट्रीटमेंट की मांग कर रहे हैं, लेकिन प्रशासन के दावे जो भी हों, हकीकत यही है कि यह रास्ता बदहाल है.

ऋषिकेश में गंगा खतरे के निशान के करीब

पहाड़ों में लगातार हो रही बारिश से गंगा सहित बरसाती नदी नाले उफान पर हैं. एक बार फिर मौसम विभाग ने बारिश का अलर्ट जारी किया है, तो इस बीच ऋषिकेश प्रशासन सतर्क हुआ है क्योंकि यहां गंगा खतरे के निशान से सिर्फ 40 सेंटीमीटर नीचे उफनती हुई बह रही है. किनारों पर लोगों को बहाव के करीब जाने से रोका जा रहा है और निगरानी रखी जा रही है. बागेश्वर, पिथौरागढ़ व अन्य पहाड़ी ज़िलों में भी नदियों का जलस्तर बढ़ा है.
(भारती सकलानी, नितिन सेमवाल, बलबीर परमार और आशीष डोभाल के इनपुट्स)

Tags: Uttarakhand landslide, Uttarakhand Rains



LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here