आरसीपी सिंह लड़ेंगे नालंदा से लोकसभा चुनाव! क्या नीतीश को अपने ही गढ़ में मिलेगी बड़ी चुनौती?

0
23


हाइलाइट्स

आरसीपी के इस्तीफे के बाद पार्टी के कई नेताओं ने अपने कार्यकर्ताओं सहित पार्टी से नाता तोड़ लिया.
जेडीयू से इस्तीफे के बाद समर्थकों की इच्छा है कि आरसीपी सिंह नालंदा लोकसभा सीट से चुनाव लड़ें.

पटना. जेडीयू से इस्तीफा देने के बाद आरसीपी सिंह क्या करेंगे – यह सवाल बिहार की सियासत में बड़ी तेजी से उठ रहा है. इसी बीच न्यूज18 को जो जानकारी मिली है उसके मुताबिक, आरसीपी सिंह आनेवाले लोकसभा चुनाव में नालंदा से किस्मत आजमा सकते हैं.

दरअसल, आरसीपी सिंह ने इस्तीफा देने के बाद आगे की रणनीति पर फिलहाल अपने पत्ते नहीं खोले हैं. सिर्फ यह संकेत दिया है कि वे कोई नया संगठन बनाकर आगे की राजनीति कर सकते हैं. आरसीपी सिंह के इस्तीफे के बाद जदयू के कई नेताओं और कार्यकर्ताओं ने भी पार्टी का साथ छोड़ दिया है. आरसीपी सिंह के बेहद करीबी कन्हैया सिंह ने भी जेडीयू से इस्तीफा दे दिया है. जदयू राज्य परिषद सदस्य मुन्ना सिद्की ने भी पार्टी की प्राथमिक सदस्यता त्याग दी. इनके अलावा करीब एक दर्जन जदयू नेताओं ने इस्तीफा दे दिया है.

आरसीपी सिंह के करीबी कन्हैया सिंह इस्तीफा देने के बाद न्यूज18 से बातचीत करते हुए आरसीपी सिंह को लेकर बड़ी बात कह दी. उन्होंने कहा कि आरसीपी सिंह नालंदा के बेटे हैं. उनकी जन्मभूमि नालंदा है. सो उनका स्वाभाविक हक बनता है. आरसीपी सिंह के समर्थकों की पूरी इच्छा है कि वे नालंदा लोकसभा सीट से चुनाव लड़ें. और उम्मीद भी है की आरसीपी सिंह नालंदा से लोकसभा चुनाव लड़ेंगे और उन्हें वहां से कोई नहीं हरा सकता है. उन्होंने कहा कि आरसीपी सिंह के साथ जो कुछ हो रहा है और हुआ है वह सबकुछ नालंदा की जनता देख रही है, जो वक्त आने ुपर जवाब देगी.

दरअसल आरसीपी सिंह के समर्थकों की यह उम्मीद बेवजह भी नहीं है. कुछ दिन पहले ही एक कार्यक्रम के दौरान आरसीपी सिंह ने यह सार्वजनिक रूप से कहा था कि उनका जन्म नालंदा में हुआ है और घर भी नालंदा में है, जबकि नीतीश कुमार का घर भले ही नालंदा में है, लेकिन उनका जन्म तो बख्तियारपुर में हुआ था. इसलिए उनका हक नालंदा पर मुझसे ज्यादा कैसे हो सकता है.

आरसीपी सिंह के नालंदा से लोकसभा चुनाव लड़ने की संभावना पर JDU संसदीय बोर्ड के अध्यक्ष उपेंद्र कुशवाहा ने चुटकी लेते हुए कहा कि अब जब आरसीपी सिंह जेडीयू में नहीं हैं, तो वे क्या करते हैं, कहां से चुनाव लड़ते हैं, यह उनका मामला है. इससे जेडीयू को कोई लेना-देना नहीं है. वे जानें, उनका काम जाने.

Tags: Bihar News, CM Nitish Kumar, RCP Singh



LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here